Home / State Sports / Varanasi : स्पोर्ट्स जोन से होगा ग्रामीण और जनपदीय क्षेत्रों के खिलाड़ियों को फायदा

Varanasi : स्पोर्ट्स जोन से होगा ग्रामीण और जनपदीय क्षेत्रों के खिलाड़ियों को फायदा

वाराणसी। सारी दुनिया में बनारस, वाराणसी और काशी यह सभी एक रूप में जाने और पहचाने जाते है। वाराणसी को पूर्वांचल की राजधानी के तौर पर भी लोग देखते हैं। दुनिया के प्राचीनतम शहरों में से एक यह शहर धार्मिक, सांस्कृतिक और बौद्घिक नगरी का दर्जा तो रखता ही है, साथ ही इस शहर की पहचान खेल जगत में भी अच्छे खासे रूप में है।

हाकी और कुश्ती में तो यहां के खिलाड़ियों ने ओलंपिक तक प्रतिनिधित्व किया है। अब यह शहर अन्य खेलों में भी अपनी अच्छी खासी उपस्थिति दर्शा रहा है। अर्जुन जैसे छोटे बालक ने तीरंदाजी में करिश्मा दिखाया है तो वहीं वुशू में भी खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय फलक तक जा रहे है। स्पोर्ट्स जोन मासिक पत्रिका के विमोचन समारोह में काशी की खेलों की एक झलक नजर आयी।

लंका के करीब स्थिति फिटनेस जोन जिम में आयोजित विमोचन समारोह में पूरा माहौल खेलमय नजर आया। इस अवसर पर नये पुराने खिलाड़ियों के साथ ही खेल संघो से जुड़े पदाधिकारियों ने अपनी बात रखी। उत्तर प्रदेश बाडी बिल्डिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष एवं इंडियन बाडी बिल्डिंग एसोसिएशन की सलेक्शन कमेटी के चेयरमैन विश्वास राव ने न केवल समारोह का संचालन ही किया बल्कि खेल जगत की जुड़ी समस्याओं का जिक्र करते हुुए फिटनेस की महत्ता को प्रतिपादित भी किया।

विश्वास राव ने बड़े विश्वास के साथ यह आशा व्यक्त की कि फिटनेस जोन और स्पोर्ट्स जोन दोनों मिलकर साथ चले तो खेलों का बड़ा भला हो सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि खेलों में न्यट्रीशन का भी काफी महत्व है खिलाड़ियों के लिए खान-पान को लेकर भी अतिसतर्कता बरतनी जरूरी है।

पूर्व अन्तर्राष्ट्रीय फुटबालर मुश्ताक अली ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है स्पोर्ट्स जोन मैगजीन खेल और खिलाड़ियो के लिए एक बहुत बड़ा प्लेटफार्म साबित होगा। इसके माध्यम से खेल आगे बढ़ेगा और खिलाड़ियो का भला होगा।

स्पोर्ट्स जोन की इस मुहिम में हम लोग उसके साथ है। खेलों की बेहतरी के लिए स्पोर्ट्स जोन की मुहिम के प्रति हमारी शुभकामनाएं है दुआएं है मुझे पूरा विश्वास है स्पोर्ट्स जोन के माध्यम से खिलाड़ियो को बहुत फायदा होगा और वे आगे बढ़ेगे.

वाराणसी जिला ओलंपिक संघ के कार्यकारी सचिव शम्स तबरेज ने कहा कि मेरी सलाह यह है कि यह पत्रिका केवल ओलंपिक गेमों पर न ही केवल फोकस करें बल्कि नॉन ओलंपिक गेमों के बारे में भी पाठको को अवगत कराएं। मेरा विश्वास है कि यह पत्रिका प्रदेश में खेल गतिविधियॉ को बढ़ावा देने का काम करेगी। साथ ही इसमें खेल जगत से जुड़ी सारी जानकरियां समाहित होगीं।

खेल पत्रकार रविकर दुबे ने कहा कि जिस तरह की परिकल्पना इस मैगजीन ने की है उससे ग्रामीण क्षेत्रों और जनपदीय क्षेत्रों के सभी खिलाड़ियों को लाभ मिलेगा।

समारोह में वाराणसी जिला शतरंज संघ के सचिव विजय, जिला वुशू के सचिव गोपाल सेठ, मुथाई एसोसिएशन के जयप्रकाश यादव, वाराणसी जिला तीरंदाजी संघ के डा.अजय सिंह, अमित उपाध्याय, कराटे जिला संघ सचिव, जमील अहमद जिला ओलंपिक संघ के उपाध्यक्ष शमसुल हुदा सिद्दीकी जिला ओलंपिक संघ कार्यकारिणी सदस्य आदि भी इस अवसर पर उपस्थित थे। चमत्कारिक तीरंदाज अर्जुन समारोह का खास आकर्षण था।

फिटनेस जोन के प्रबंध संचालक अभिषेक और अभिनव ने स्पोर्ट्स जोन टीम के सदस्यों के साथ ही उपस्थित खेल संघों के पदाधिकारियों का माल्यार्पण कर स्वागत किया। आइकॉनिक ओलंपिक गेम्स अकादमी के डायरेक्टर सैयद मो.रामिश ने कहा कि पढ़ाई के साथ ही खेलों का भी बड़ा महत्व है। इसे यदि कॅरियर के तौर पर छात्र पढ़ाई के साथ अपनायें तो उन्हें आगे बढ़ने और तरक्की करने में मदद मिलेगी।

खेल को कॅरियर के तौर पर जोड़ लिया जाए तो यह सोने में सुहागा जैसा होगा। स्पोर्ट्स जोन पत्रिका के स्थानीय संपादक वीरेन्द्र शुक्ल ने कहा कि खेल जीवन में ही बल्कि समाजिक जीवन में सफलता पाने के लिए जुनून, उत्साह की ही नहीं बल्कि आत्मविश्वास की काफी जरूरत है।


										
									

About Aditya Srivastava

Check Also

चतुर्थ शैल बाला शतरंज : तनिष्क गुप्ता विजेता, पृथ्वी को दूसरा पायदान

  लखनऊ। स्थानीय प्रिसीजन चेस अकादमी में खेली जा रही चतुर्थ शैल बाला स्मारक ओपन ...