Home / National Sports / नहीं बनी बात, ड्रीम इलेवन 4 माह 13 दिन के लिए आईपीएल-2020 का प्रायोजक 

नहीं बनी बात, ड्रीम इलेवन 4 माह 13 दिन के लिए आईपीएल-2020 का प्रायोजक 

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की टाइटल स्पांसरशिप से चीनी मोबाइल कंपनी वीवो के हटने के बाद ड्रीम इलेवन को इस साल टाइटल स्पांसरशिप मिली थी लेकिन कई मुद्दों के चलते बीसीसीआई ने इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की थी.

ड्रीम इलेवन ने इस साल के लिए स्पांसरशिप राशि 222 करोड़ दी थी लेकिन उसके सामने 2021 और 2022 की स्पांसरशिप की भी पेशकश थी लेकिन इसके लिए उसे स्पांसरशिप राशि बढ़ाने को कहा गया था.

कम राशि की पेशकश के चलते सशर्त तीन साल की बोली नामंजूर

हालांकि  बुधवार शाम को इस कवायद पर विराम लग गया और  बीसीसीआई ने  2021 और 2022 के लिए  ड्रीम इलेवन की  कम बोली के चलते सशर्त तीन साल की बोली नामंजूर कर दी. इसके चलते अब ड्रीम इलेवन आईपीएल में 2020 के लिए आईपीएल टाइटल प्रायोजन 4 महीने 13 दिनों के लिए रहेगा.

इस बारे में बीसीसीआई ने आईपीएल चेयरमैन बृजेश पटेल के मंगलवार को दिए  बयान की पुष्टि कर दी और बुधवार को जारी बयान में कहा कि आईपीएल संचालन परिषद ने ड्रीम इलेवन  को आईपीएल-2020 का नया टाइटल प्रायोजक घोषित कर दिया है.  इस मसले पर दिन भर कयासों का दौर चलता रहा और बीसीसीआई व ड्रीम इलेवन के बीच कई दौर की बात चली थी.

इससे पहले इस बारे में बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि ड्रीम इलेवन ने सबसे बड़ी बोली लगाई है और वो प्रबल दावेदार है. उन्होंने कहा कि बीसीसीआई द्वारा ड्रीम इलेवन से इस बारे में बात हो रही है कि कंपनी दूसरे और तीसरे साल के लिए बोली में इजाफा करे.

उन्होंने कहा था कि बीसीसीआई ड्रीम इलेवन से तीन साल के सशर्त करार के लिए भी बात कर रही है कि अगर वीवो हर साल साल 440 करोड़ रुपये के करार पर वापसी को तैयार नहीं होता है तो आपको 2021 और 2022 में हर साल के लिए 240 करोड़ रुपये देने होंगे. हालांकि  वीवो  हमें अगले साल 440 करोड़ रुपये देने के लिए तैयार हो गयी तो फिर 240 करोड़ रुपये के लिए हम क्यों तैयार हों.

ये भी पढ़े : 

आईपीएल टाइटल प्रयोजन की होड़ में “ड्रीम इलेवन” ने मारी बाजी

आईपीएल के प्रायोजन की होड़ में पतंजलि पिछड़ी, ये इंडियन कंपनी सबसे आगे 

आईपीएल : ड्रीम इलेवन को 2021-2022 की टाइटल स्पांसरशिप राशि बढ़ाने को कह सकता है बीसीसीआई

इस बारे में आईपीएल चेयरमैन पटेल ने बीसीसीआई के प्रेस नोट में  कहा कि  ड्रीम इलेवन  का आधिकारिक भागीदार से टाइटल प्रायोजक बनना ब्रांड आईपीएल के लिए शानदार है. वैसे ड्रीम इलेवन का कई लीग में निवेश है और वो 19 लीगों से जुड़ा है और आईपीएल की छह फ्रेंचाइजी से भी उसका करार है.

जानकारी के अनुसार भारत-चीन विवाद के चलते की टाइटल स्पांसरशिप से चीनी मोबाइल कंपनी वीवो की छुट्टी हुई थी. इसके बारे में आईपीएल  2020 के लिए स्पांसरशिप राशि 222 करोड़ पर करार  किया था.  हालांकि वीवो के अगले साल वापसी न करने पर बीसीसीआई को 2021 और 2022 के लिए नयी बोली लगानी होगी. अब ये तय है कि दुनिया का सबसे धनी बोर्ड 400 करोड़ रुपये से कम पर नहीं मानेगा.

About Aditya Srivastava

Check Also

वीडियो : सानिया ने बेटे से कुछ ऐसा पूछा कि जवाब सुनकर…

भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा इन दिनों टेनिस से दूर है। ऐसे में ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.