Latest News
Home / International Sports / कोरोना काल में अभ्यास में आक्सीजन की कमी दूर करेगा ये स्पेशल मास्क

कोरोना काल में अभ्यास में आक्सीजन की कमी दूर करेगा ये स्पेशल मास्क

कोरोना काल में खेलों की दुनिया पर लगा ब्रेक धीमे-धीमे खत्म करने की मुहिम चल रही है। इसी क्रम में खिलाड़ी भी अपना अभ्यास शुरू कर रहे हैं। हालांकि ऐसे में खिलाड़ियों को दिक्कत का भी सामना करना पड़ रहा है क्योंकि एक्सरसाइज के दौरान मास्क पहनना हेल्थ के लिए हानिकारक होता है।

खिलाड़ियों के अभ्यास के लिए आईआईटी ने आईओए की पहल पर बनाया मास्क

वहीं मास्क न पहनने पर कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा रहता है। इन हालातों को देखते हुए भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने अनूठी पहल की है और खिलाड़ियों के लिए विशेष मास्क तैयार करवा रहा है जिसके लिए ये दावा किया जा रहा है कि ये खिलाड़ियों के लिए बना दुनिया का पहला मास्क होगा।

खिलाड़ियों के लिए बना दुनिया का पहला मास्क

इस मास्क के पहनने से वर्कआउट के दौरान पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन भी मिलेगी तो कार्बन डाई आक्साइड भी शरीर से बाहर जाने में कोई दिक्कत नहीं होगी। आईओए की पहल पर आईआईटी के विशेषज्ञों द्वारा बनाए जा रहे इस विशेष मास्क में एक खास डिवाइस होगी। इस बारे में भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के महासचिव राजीव मेहता ने जानकारी दी कि यह मास्क जल्द ही खिलाड़ियों के लिए उपलब्ध होगा।

पहले चरण में ओलंपिक के लिए तैयारी करने वालों को मिलेंगे मास्क

मास्क के बारे में ये भी बताया गया कि इस मास्क को लगाने वाले को ये आभास ही नहीं होगा कि उसने मास्क लगाया है । आईओए के सचिव राजीव मेहता के अनुसार लांचिंग के साथ मास्क के बारे में और जानकारियां देंगे। इसमें पहले चरण में ओलंपिक की तैयारी कर रहे या क्वालीफाई कर चुके खिलाड़ियों को ये मास्क मिलेंगे। उसके बाद राष्ट्रीय कैंप में शामिल खिलाड़ियों को मास्क मिलेंगे।

राजीव मेहता के अनुसार कोरोना संक्रमण का खतरा अगले दो से तीन साल तक रहेगा। ऐसे में हमारी योजना है किं देश के सभी खिलाड़ियों को ये मास्क दिए जाए। इसके लिए हम सरकार से मदद हासिल करने का प्रयास करेंगे। हमारी कोशिश होगी कि सरकार की सहायता से ये मास्क भारी संख्या में तैयार करवाए जाए।

बैट्री चलित डिवाइस में होंगे दो वाल्व

उन्होंने कहा कि विशेष तरह के कपड़े से बने इस मास्क में दायीं और बांयी ओर दो रेसपेरेटरी वाल्व होंगे। ये वाल्व जिस विशेष डिवाइस से जुड़े होंगे वो मोबाइल की तरह चार्जेबल होगी। इसके सहारे मास्क के भीतर की हवा शुद्ध होती हरेगी।

इन्हीं वाल्वों से सांस लेने पर ऑक्सीजन शरीर के अंदर होगी और कार्बन डाइआक्साइड बाहर निकलेगी। इन मास्क पर की गई एंटी बैक्टीरियल कोटिंग के चलते मास्क से जैसे ही वायरस या अन्य सूक्ष्म जीवाणु का संक्रमण होगा वो खत्म हो जाएंगे। ये मास्क लगभग तीन हजार रुपए की कीमत में मिलेगा।

मास्क पर एक नजर

  • आईआईटी के विशेषज्ञों ने बनाया
  • विशेष तरह के कपड़े से निर्माण
  • मास्क पर एंटी बैक्टीरियल कोटिंग
  • मास्क में दो रेसपेरेशन वाल्व
  • चार्जेबल बैट्री से संचालित खास किस्म की डिवाइस भी
  • मूल्य लगभग तीन हजार रुपए
  • पहले चरण में ओलंपिक की तैयारी करने वालों को मिलेगा मास्क

 

About Aditya Srivastava

Check Also

एटीपी फाइनल्स : विश्व नंबर-3 थिएम को मात देकर मेदवेदेव चैंपियन 

रूस के टेनिस स्टार प्लेयर डेनियल मेदवेदेव ने लंदन में हुई एटीपी वर्ल्ड टूर फाइनल्स ...