Latest News
Home / State Sports / Sultanpur : होगा खेलों का उत्थान, बदलेगा स्टेडियम का चेहरा 

Sultanpur : होगा खेलों का उत्थान, बदलेगा स्टेडियम का चेहरा 

लखनऊ से चलकर जब टीम सुल्तानपुर पहुंची तो छोटा शहर पहुंचने के बावजूद यहां खेलों के माध्यम से खेल माहौल बनाने की मुहिम देखने को मिली तो वहीं स्टेडियम को नया रंग रूप देने की बात सुनकर मन को संतोष देने और आहलादित करने वाली थी। क्रीड़ाधिकारी शीला भट्टाचार्य भले क्वारंटीन होने की वजह से स्पोर्ट्स जोन के विमोचन समारोह का हिस्सा नहीं बन सकीं पर अन्य स्टाफ ने अपनी गतिविधियों से कहीं कोई कमी नहीं नजर आने दी।

जिले में हुआ हिंदी की पहली मासिक स्पोर्ट्स जोन का विमोचन

सबसे बड़ी और उल्लेखनीय बात यह नजर आई कि राजनीति से जुड़े होने के बावजूद युवा रामेन्द्र सिंह राणा खेल गतिविधियों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते नजर आये। भाजपा युवा मोर्चा सुल्तानपुर के जिलाध्यक्ष रामेन्द्र सिंह खेलों भारत के जिला संयोजक भी है साथ ही सुल्तानपुर जिला वालीबाल संघ के उपाध्यक्ष भी है।

उन्होने बताया कि खेलों इंडिया के तहत रेस में खेलों के उत्थान के लिए 70 करोड़ का बजट आवांटित हुआ है इसमें से हमने चार करोड़ 83 लाख रुपये की धनराशि हासिल कर ली है। जिसके फलस्वरूप स्टेडियम को पूरी तरह बदल और संवार देने की योजना है। पूरे स्टेडियम की ऊंचाई जहां वर्तमान से डेढ़ फुट ऊंची करने की है योजना तो वहीं सीढ़ियों को स्टील की छत से ढकने की योजना भी है।

स्वीमिंग पुल में टूटी फूटी टाईल्स की जगह नई टाइल्स बिछाई जायेगी ताकि किसी को चोट न लगे पूरे स्टेडियम को सुरक्षित रखने के लिए बाउंड्रीवाल बनाने के लिए बाउंड्रीवाल के निर्माण का कार्य भी शुरू  हो गया है। रामेन्द्र सिंह का पिछला खेल इतिहास भी है। वह वालीबाल के राज्यस्तरीय खिलाड़ी भी रहें है।

वेद ने चैंपियन का तमगा ज्योति बसु से पाया था

सुल्तानपुर जिला ओलंपिक संघ के सचिव वेद प्रकाश उपाध्याय को सुल्तानपुर के खेल जगत में चैंपियन के नाम से जाना जाता है। उन्हें सुल्तानपुर में अत्यधिक लोकप्रियता प्राप्त है। यही वजह है वे जिले के खेल सर्किल में बतौर लीजेंड है। उन्हें चैंपियन का नाम पश्चिम बंगाल के दिव्यंगत मुख्ययमंत्री ज्योति बसु ने दिया था।

वह 1991 में सब जूनियर नेशनल में वालीबाल खेलने यूपी की टीम से कोलकाता गए थे। तब उनके शानदार ओर जानदार खेल को देखकर ज्योति बसु इतने प्रभावित और प्रफुल्लित हुए थे कि उन्होंने वेद को चैंपियन के नाम से संबोधित कर डाला था। तब से वह नाम से कम, चैंपियन नाम से ज्यादा जाने जाते है। 51 वर्षीय वेद प्रकाश उपाध्याय लखनऊ के स्पोर्ट्स कालेज में भी रहे वह 1988 बैच के वालीबाल के छात्र थे।

इस समय वह जिला ओलंपिक संघ के सचिव के अलावा सुल्तानपुर जिला वालीबाल संघ के भी सचिव है। सुलतानपुर के पंत स्पोर्ट्स स्टेडियम में विमोचन समारोह में प्रकाश चन्द्र शुक्ल सचिव, सुल्तानपुर ताइक्वाण्डों एसोसिएशन सचिव, सुल्तानपुर हैंडबाल एसोसिएशन प्रवीण कुमार मिश्र, बाबूलाल सरोज, बड़े बाबू, स्पोर्ट्स स्टेडियम सहित कई खिलाड़ी आदि भी मौजूद थे।

About Aditya Srivastava

Check Also

वाराणसी मेें हुई बैठक, उत्तर प्रदेश फुटबॉल संघ के अध्यक्ष ने किया ख़ारिज 

लखनऊ: उत्तर प्रदेश फुटबॉल संघ के अध्यक्ष डा.संजय सिंह ने वाराणसी में हुई संघ की ...