Home / State Sports / जिले में खेलों के प्रोत्साहन के लिए स्कूलों में खेल गतिविधियों को मिले बढ़ावा : डा.सैयद रफत

जिले में खेलों के प्रोत्साहन के लिए स्कूलों में खेल गतिविधियों को मिले बढ़ावा : डा.सैयद रफत

लखनऊ। जिले में खेल गतिविधियों को धार देने के लिए जिला खेल विकास व प्रोत्साहन समिति के पुर्नगठन को आज कलेक्ट्रेट सभागार में हुई समिति की बैठक में सर्वसम्मति से मंजूरी दी गई। लखनऊ जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में ये भी निर्णय हुआ कि जिला खेल विकास व प्रोत्साहन समिति में विभिन्न स्त्रोतो से धनराशि जमा करायी जाए ताकि जिले में खिलाड़ियों के प्रोत्साहन व खेल सुविधाओं के विकास को नए आयाम दिए जा सके।

जिला खेल विकास व प्रोत्साहन समिति के पुर्नगठन को सर्वसम्मति से मिली मंजूरी

इस अवसर पर लखनऊ ओलंपिक एसोसिएशन के कार्यकारी अध्यक्ष डा.सैयद रफत ने कहा कि खेलों को प्रोत्साहन देने के लिए स्कूलों में खेल गतिविधियों को बढ़ावा देना होगा। इस बैठक मे उपस्थिति सदस्यों ने निर्णय लिया कि सबसे पहले जिला खेल विकास एवं प्रोत्साहन समिति के सुचारू रूप से संचालन के लिए प्रबंध समिति गठित की जाए।

इंटरनेशनल खिलाड़ी विजय सिंह, उमेश प्रसाद बने प्रबंध समिति के सदस्य

इस अवसर पर क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी जितेंद्र यादव ने बताया कि शासनादेश के अनुसार समिति में जिलाधिकारी महोदय-अध्यक्ष, पुलिस आयुक्त-उपाध्यक्ष, मुख्य विकास अधिकारी- सह उपाध्यक्ष, क्षेत्रीय क्रीडा अधिकारी- सचिव/कोषाध्यक्ष के पदेन सदस्य के रूप में नामित हैं। इसके बाद जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने इंटरनेशनल हॉकी प्लेयर विजय सिंह, इंटरनेशनल तैराक उमेश प्रसाद को प्रबंध समिति का सदस्य बनाने के साथ एक विख्यात महिला खिलाड़ी को प्रबंध समिति में नामित करने का निर्देश दिया गया।

एक विख्यात महिला खिलाड़ी को प्रबंध समिति में नामित करने पर सहमति

इसके साथ विभिन्न खेल संगठनों के उपस्थिति पदाधिकारियों को प्रबन्ध समिति में सदस्य नामित करने के प्रस्ताव मिले जिनको जिलाधिकारी के निर्णय के बाद प्रबंध समिति में जगह दी जाएगी।

अब जिलाधिकारी के अनुमोदन के साथ नवनियुक्त प्रबन्ध समिति की बैठक फिर होगी और लखनऊ जिला खेल विकास एवं प्रोत्साहन समिति का विधिवत गठन होगा। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने सभी सदस्यों को निर्देशित किया कि कोविड-19 महामारी बीमारी से बचाव के लिए सभी खिलाड़ियों को जागरूक किया जाये।

जिले के जिमों के संचालन के लिए बने गाइडलाइंस : डा.सैयद रफत

लखनऊ ओलंपिक एसोसिएशन के कार्यकारी अध्यक्ष डा.सैयद रफत ने अपने सुझाव में कहा कि यदि हमें खेलों को प्रोत्साहन देना है तो हमे निचले स्तर पर शुरुआत करनी होगी। इसके लिए हमें स्कूलों में खेल गतिविधियों को भी प्रोत्साहन देना होगा। उन्होंने एक अत्यंत महत्वपूर्ण बिंदु पर ध्यान इंगित किया कि इस समय जिले में 1000 से ज्यादा जिम है लेकिन इसके लिए कोई गाइडलाइंस नहीं है और ये गलत ट्रेनिंग भी कराते है।

ये समय की दरकार है कि इन तमाम जिम के लिए रेगुलेशन पालिसी लाई जाए। उन्होंने सुझाव दिया कि लखनऊ खेल प्रोत्साहन समिति में सभी जिमों का रजिस्ट्रेशन हो और इसके लिए इन जिम से शुल्क भी लिया जाये। इसके साथ ही इन जिम को प्रापर ट्रेनिंग के लिए गाइडेंस भी दिया जाएगा। इससे सही मायने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फिट इंडिया का सपना साकार होगा।

इसके साथ ही जिम से रजिस्ट्रेशन फीस लेने से समिति के कोष में फंड भी इकठ्ठा होगा। इससे आने वाले समय में खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए सुविधाओं की व्यवस्था हो जाएगी और प्रतियोगिताओं का बेहतर आयोजन भी संभव हो सकेगा। उन्होंने कहा कि प्रयास ये किया जाए कि वार्ड लेवल तक टूर्नामेंट का आयोजन कराया जाए। इससे लोगों के बीच में खेल की सही जानकारी का प्रसार होगा।

जल्द होगा लखनऊ जिला खेल विकास एवं प्रोत्साहन समिति का विधिवत गठन

इस बैठक में जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमरपाल सिंह, स्थानीय सांसद राजनाथ सिंह के प्रतिनिधि, मुख्य विकास अधिकारी लखनऊ के प्रतिनिधि, पुलिस आयुक्त लखनऊ के प्रतिनिधि, जिला सूचना एवं प्रसार अधिकारी लखनऊ, मुख्य चिकित्सा अधिकारी लखनऊ के प्रतिनिधि, सहायक चिकित्साधिकारी, जिला व्यायाम शिक्षक लखनऊ, कमांडेट पीएसी के प्रतिनिधि, मंडल रेल प्रबंधक एनईआर के प्रतिनिधि, जिला युवा कल्याण अधिकारी लखनऊ, नेहरू युवा केंद्र के पदाधिकारी, अंर्तराष्ट्रीय खिलाड़ी उमेश प्रसाद (तैराकी) एवं श्री विजय कुमार सिंह (हॉकी), डा.सैयद रफत (कार्यकारी अध्यक्ष, लखनऊ ओलंपिक एसोसिएशन), एथलेटिक्स, हैंडबाल, ताइक्वांडो, साफ्ट टेनिस, कबड्डी, तलवारबाजी, बॉक्सिंग, जूडो, हॉकी, फुटबॉल, वालीबॉल, आत्या-पात्या, संघ लखनऊ के प्रतिनिधि एव पदाधिकारी मौजूद रहे। अंत में क्षेत्रीय क्रीडा अधिकारी लखनऊ जितेंद्र यादव धन्यवाद ज्ञापित किया।

बैठक में इस बात पर भी विचार हुआ कि प्रदेश सरकार द्वारा खेल विकास एवं प्रोत्साहन समिति 2020 नियमावाली के अनुसार ‘पे एंड प्ले तथा कम एंड प्ले‘ योजना के अन्तर्गत जिला स्तर पर विभिन्न माध्यमों से आय के स्त्रोत बढ़ाय जाये।

इस बैठक में आय बढ़ाने के लिए निम्र मु्द्दों पर चर्चा की गयी:-

  • जिले में जिम व तरणताल के रजिस्ट्रेशन के लिए वार्षिक रजिस्टे्रशन 15 हजार रुपए एक मुश्त
  • स्टेडियम में आने गणमान्य व्यक्तियों या वरिष्ठों को स्टेडियम की लाइफ टाइम मेंबरशिप के लिए एक मुश्त फीस ली जाए।
  • खिलाडियों से सालाना रजिस्ट्रेशन फीस के साथ 100 रुपए अतिरिक्त प्रोत्साहन समिति के लिए फीस
  • खेल मैदानों के आरक्षण में 1,000 रुपए प्रत्येक आरक्षण पर
  • बैडमिन्टन हॉल प्रति व्यक्ति 1,000 रुपए अंशदान
  • जिले में असलहों का लाइसेंस लेने वालों तथा शराब बिक्री लाइसेंस लेने वालों से 5,000 रुपए प्रोत्साहन समिति में जमा कराया जाये।
  • स्टेडियम परिसर में आने वाले व्यक्तियों द्वारा खेल अवस्थापना, इमारत की क्षति या तोड़फोड़ करने वाले से नुकसान का आंकलन कराकर जुर्माना निर्धारित कर धनराशि को समिति में जमा कराया जायेगा।

About Aditya Srivastava

Check Also

चतुर्थ शैल बाला शतरंज : तनिष्क गुप्ता विजेता, पृथ्वी को दूसरा पायदान

  लखनऊ। स्थानीय प्रिसीजन चेस अकादमी में खेली जा रही चतुर्थ शैल बाला स्मारक ओपन ...