Home / National Sports / Oops : वर्ल्ड कप ट्राफी उठाने वाले हाथ आज तौल रहे सब्जी

Oops : वर्ल्ड कप ट्राफी उठाने वाले हाथ आज तौल रहे सब्जी

भारत देश में क्रिकेट का बहुत बड़ा दर्जा है और क्रिकेटर का रुतबा किसी स्टार से कम नहीं है लेकिन ये कहा जा सकता है कि सिर्फ विराट कोहली, धोनी या अन्य क्रिकेटरों का नाम सबको याद रहता है लेकिन अन्य खेलो की कौन कहे, तब तो रोना आ जाता है कि जब ये दिखता है कि देश का नाम रोशन करने वाले दिव्यांग क्रिकेटरों का बुरा हाल है कि उन्हें अपने जीवन यापन के लिया क्या-क्या करना पड़ता है.

अब इस देश में किसको याद होगा कि भारत ने 2018 में ‘ब्लाइंड वर्ल्ड कप’ भी जीता था तो इसमें खेलने वाले क्रिकेटरों  को कौन पूछता है.   हाल ये है कि इस विजेता टीम के एक खिलाड़ी को जिंदगी गुजारने के लिए सब्ज़ी बेचनी पड़ती है.

ये खिलाडी है   नरेश तुमड़ा भारत की उस ब्लाइंड क्रिकेट टीम में शामिल थे  जिसने शारजाह में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ चुनौतीपूर्ण रन जोड़कर  भारत की झोली में 2018 में वर्ल्ड कप की ट्राफी डाली थी. हालांकि वक़्त ने ऐसा सितम किया कि आज नरेश जिंदगी गुजारने के लिए अहमदाबाद में सब्ज़ी बेच रहे हैं.

कोरोना काल में बिगड़े हालत में उनकी दिक्कत काफी बढ़ गयी है लेकिन क्या करे क्योकि उन्हें आर्थिक मंदी के इस दौर में पांच लोगों का परिवार पालने की चुनौती है. इसके चलते नरेश अहमदाबाद की जमालपुर सब्जी मंडी में छोटी-सी टपरी में सब्जी बेचने लगे.

हालांकि जब इस टीम ने वर्ल्ड कप जीता होगा तो कइयो की और नरेश की यही टिप्पणी रही होगी कि कइयों ने तिरंगा कभी देखा भी नहीं  लेकिन उसी तिरंगे के लिए ये विश्व कप जीता. उस समय सपने अपने सपनों के कई रंग बुने होंगे जो शायद अब फीके पड़ने लगे होंगे.

वही अगर सब्जी बेचते नरेश से कोई जब सब्जी के रेट के साथ ये भी पूछता होगा कि क्या आप क्रिकेट भी खेले हो?’ लेकिन देश के लिए पहनी गई जर्सी और तिरंगे का आखिर क्या जवाब होगा.

इस बारे में नरेश की माने तो  भारत की सामान्य क्रिकेट टीम जीतती है तो उसके पास  पैसों और इनाम का अम्बार लग जाता है लेकिन जब हमने वर्ल्ड कप जीता तो न हमें किसी ने नौकरी के लिए पूछा और न ही कोई ईनाम मिला.

About Aditya Srivastava

Check Also

आईपीएल-2022 में देखने को मिलेंगी दस टीम

हाल ही में यूएई में आईपीएल का सफल आयोजन हुआ था. आईपीएल 2020 का फाइनल ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.