Latest News
Home / State Sports / Mau : शहर में एस्ट्रोटर्फ की दरकार

Mau : शहर में एस्ट्रोटर्फ की दरकार

मऊ। पूर्वांचल का एक छोटा सा कस्बा मऊ यूं तो छोटे-छोटे उद्योगों व हैंडलूम के काम के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है लेकिन ये शहर खेलों की दृष्टि से भी काफी उर्वर है। इसका प्रमाण इसी से मिलता है कि इस शहर से निकले कई हॉकी खिलाड़ियों ने देश का परचम अंतर्राष्ट्रीय फलक पर लहराया है। यहीं से देश के सर्वश्रेष्ठ लंबी दूरी के धावक ओलंपियन बहादुर प्रसाद (अर्जुन अवार्डी) भी इसी शहर से ताल्लुक रखते हैं।

हालांकि इस शहर में सिंथेटिक टर्फ की मांग काफी समय से चल रही है जो अभी तक पूरी नहीं हो सकी है। इस शहर में जब स्पोर्ट्स जोन की टीम लांचिग के लिए पहुंची तो लोगों ने इस पत्रिका को हाथों-हाथ लिया और विश्वास जताया कि अब हमारे शहर की खेल जगत में धमक की गूंज ऊपर तक पहुंचेगी और जिले में खेल को नया आयाम मिलेगा।

शहर में हुई हिंदी की पहली मासिक खेल पत्रिका स्पोर्ट्स जोन की लांचिंग

लांचिंग के दौरान शहर की खेल-जगत से जुड़ी जानी-मानी हस्तियां मौजूद रही। सोशल डिस्टेसिंग के साथ मऊ जिला ओलंपिक संघ के तत्वावधान में हुए इस समारोह में मऊ जिला ओलंपिक एसोसिएशन के अध्यक्ष अलक्षेंद्र विक्रम सिंह, सचिव आनंद सिंह और जिला क्रीड़ा अधिकारी मुकेश सब्बरवाल ने इस पत्रिका की लांचिग के लिए प्रधान संपादक डा.आनन्देश्वर पाण्डेय (महासचिव उत्तर प्रदेश ओलंपिक एसोसिएशन) व आइकोनिक ओलंपिक गेम्स अकादमी के प्रबंध निदेशक सैयद रफत जुबैर रिजवी (एसोसिएट उपाध्यक्ष, उत्तर प्रदेश ओलंपिक एसोसिएशन व कार्यकारी अध्यक्ष लखनऊ ओलंपिक एसोसिएशन) की सराहना की।

अलक्षेंद्र विक्रम सिंह

मऊ जिला ओलंपिक एसोसिएशन के अध्यक्ष अलक्षेंद्र विक्रम सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि पूर्वांचल की ये धरती खेलों में हॉकी की दृष्टि से काफी उर्वर है। यहां से निकले कई खिलाड़ियों ने इंटरनेशनल लेवल पर खेला है। अगर यहां एस्ट्रोटर्फ होगा तो हमारे खिलाड़ी और बेहतर प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा कि इस शहर से एथलेटिक्स, बैडमिंटन सहित कई खिलाड़ियों ने कमाल दिखाया लेकिन सुविधाओं की कमी सालती है।

उन्होंने हिंदी की पहली पत्रिका की लांचिंग के लिए स्पोर्ट्स जोन की टीम को बधाई देते हुए कहा कि भविष्य के ओलंपियन तैयार करने का आपका लक्ष्य काफी बड़ा है और उम्मीद है कि इस पत्रिका में खिलाड़ी को उस स्तर की बेहतरीन व नवीनतम जानकारी मिलेगी।
उन्होंने कहा कि भविष्य के ओलंपियन तैयार करने के लिए स्कूल के स्तर पर नींव मजबूत करनी पड़ेगी,काफी सराहनीय है। पूरा विश्वास है कि स्पोर्ट्स जोन इस मिशन को बखूबी आगे बढ़ाएगी।

मऊ जिला ओलंपिक एसोसिएशन के सचिव आनंद सिंह ने बताया कि हमारा खिलाड़ियों को संदेश है कि आप अभी घर पर रहकर ही फिजिकल फिटनेस की एक्सरसाइज करे। जैसे ही सरकारी गाइडलाइंस के अनुसार अनुमति मिलेगी। हम टूर्नामेंट के आयोजन के साथ अभ्यास की भी रूपरेखा तैयार करवाएंगे। इस पत्रिका से खेल व खिलाड़ियों को नवीनतम जानकारी मिलने से प्रदेश के खिलाड़ी लाभान्वित होंगे।

उन्होंने पत्रिका के साथ यूट्यूब चैनल व न्यूज पोर्टल की शुरुआत के लिए प्रधान संपादक डा.आनन्देश्वर पाण्डेय (महासचिव उत्तर प्रदेश ओलंपिक एसोसिएशन) व आइकोनिक ओलंपिक गेम्स अकादमी के प्रबंध निदेशक सैयद रफत जुबैर रिजवी (एसोसिएट उपाध्यक्ष, उत्तर प्रदेश ओलंपिक एसोसिएशन व कार्यकारी अध्यक्ष लखनऊ ओलंपिक एसोसिएशन) को बधाई दी।

मऊ के जिला क्रीड़ा अधिकारी मुकेश सब्बरवाल

मऊ के जिला क्रीड़ा अधिकारी मुकेश सब्बरवाल ने अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि खेल जगत में हिंदी की मासिक खेल पत्रिका का अभाव था और इस पत्रिका से इस खालीपन को भरा जाएगा, ऐसा मेरा विश्वास है। उन्होंने कहा कि मऊ में खेल सुविधाओं के सतत विकास की प्रक्रिया चल रही है।

उन्होंने जिले के खेल कल्चर के बारे में बताया कि यहां फुटबॉल, हॉकी, कुश्ती, हैंडबॉल का बोलबाला है। खासकर यहां से निकले हॉकी व हैंडबॉल के कई खिलाड़ियों ने इंटरनेशनल लेवल पर खेला है। इसके अलावा यहां फुटबॉल की भी काफी दीवानगी है। अभी यहां 32 टीमें है जिनमें से कई के पास अपने मैदान है।

हाल ही में यहां फुटबॉल का नेशनल लेवल का टूर्नामेंट हुआ था जिसमें कई नामी-गिरामी टीमों ने हिस्सा लिया था। उन्होंने कहा था यहां खेल कल्चर भी काफी बढ़िया है। हालांकि लाकडाउन से असर पड़ा था लेकिन अनलाक की गाइडलाइन आने के बाद धीमे-धीमें बच्चे स्टेडियम की ओर लौट रहे है जो कोविड प्रोटोकाल के साथ प्रैक्टिस कर रहे है।

उमेंद्र सिंह (संयुक्त सचिव, यूपी हॉकी)

उमेंद्र सिंह (संयुक्त सचिव, यूपी हॉकी) इस अवसर पर बोले कि धरती खेल व खिलाड़ियों के लिए काफी उर्वर है। यदि यहां खेल सुविधाओं का विकास होगा तो यहां से कई नये खिलाड़ी मिलेंगे। उन्होंने विश्वास जताया कि स्पोर्ट्स जोन का जो मिशन है, उसके चलते हमें पूरा विश्वास कि इस जिले में खेल सुविधाओं की मांग की आवाज ऊपर तक पहुंचेगी।

इस अवसर पर मौजूद अन्य अतिथिगण में अजहर कमाल (अध्यक्ष जिला हैंडबॉल संघ), संजय सिंह (सचिव जिला हॉकी), प्रवीण कुमार सिंह (वरिष्ठ उपाध्यक्ष जिला हैंडबॉल संघ), सचिन भारद्वाज (सर्विसेज, इंटरनेशनल हैंडबॉल प्लेयर, एशियन गेम्स-2014 व 2018 में प्रतिभाग) सहित बड़ी संख्या में खेल प्रेमी मौजूद थे।

जिले के खिलाड़ियों पर एक नजर

एथलेटिक्स-देश के सर्वश्रेष्ठ लंबी दूरी के धावक ओलंपियन बहादुर प्रसाद (अर्जुन अवार्डी), 1500 मी, 3000 मी., 5000 मी.

हॉकी-अनिल, सुनील यादव (एशियन गेम्स), महिला वर्ग : पूनम सिंह (जर्मनी व हालैंड टूर, सीनियर महिला नेशनल हॉकी टूर्नामेंट में प्रतिभाग), निशा सिंह (जूनियर हॉकी बालिका वर्ल्ड कप में प्रतिभाग), रश्मि सिंह (सीनियर इंडिया टीम में जगह)

हैंडबॉल-सचिन भारद्वाज (सर्विसेज, इंटरनेशनल हैंडबॉल प्लेयर, एशियन गेम्स-2014 व 2018 में प्रतिभाग), उज्जवला भारद्वाज (एशियन गेम्स 2014 व 2018 में प्रतिभाग), नंद किशोर भारद्वाज, राहुल कनौजिया, विजय सिंह, प्रवीण सिंह (सभी इंटरनेशनल प्लेयर)

About Aditya Srivastava

Check Also

6 दिसम्बर को होगा शर्मिला नियोगी टी-20 कारपोरेट कप का फाइनल 

लखनऊ। सीएसडी सहारा क्रिकेट अकादमी द्वारा आयोजित शर्मिला नियोगी टी-20 कारपोरेट कप को अब भी ...