Home / National Sports / आईपीएल : ड्रीम इलेवन को 2021-2022 की टाइटल स्पांसरशिप राशि बढ़ाने को कह सकता है बीसीसीआई

आईपीएल : ड्रीम इलेवन को 2021-2022 की टाइटल स्पांसरशिप राशि बढ़ाने को कह सकता है बीसीसीआई

भारत-चीन विवाद के चलते इस बार इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की टाइटल स्पांसरशिप से चीनी मोबाइल कंपनी वीवो की छुट्टी हो गयी है और उसकी जगह ड्रीम इलेवन को इस साल के लिए टाइटल स्पांसरशिप मिली है लेकिन अगर वो बीसीसीआई की राय मान ले तो उसे अगले दो साल (2021-2022) के लिए भी अधिकार मिल सकते है.

इस फंतासी गेमिंग प्लेटफॉर्म ने इस बार टाइटल स्पांसरशिप हासिल कर ली है लेकिन सूत्रों के अनुसार भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) प्रायोजन राशि की पेशकश से खुश नहीं है. इसी के चलते भले ही लीग अध्यक्ष बृजेश पटेल ने इस बारे में पुष्टि कर दी है.

इसके चलते ही बीसीसीआई ने अभी तक ड्रीम इलेवन के नाम की आईपीएल टाइटल स्पांसरशिप की आधिकारिक घोषणा नहीं की है.

इस बारे में बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि ड्रीम इलेवन ने सबसे बड़ी बोली लगाई है और वो प्रबल दावेदार है लेकिन कुछ मुद्दों का हल निकालने के बाद ही आधिकारिक घोषणा होगी.

ये भी पढ़े : 

आईपीएल टाइटल प्रयोजन की होड़ में “ड्रीम इलेवन” ने मारी बाजी

आईपीएल के प्रायोजन की होड़ में पतंजलि पिछड़ी, ये इंडियन कंपनी सबसे आगे 

 

उन्होंने कहा कि बीसीसीआई द्वारा ड्रीम इलेवन से इस बारे में बात हो रही है कि कंपनी दूसरे और तीसरे साल के लिए बोली में इजाफा करे. इस अधिकारी ने ये भी कहा कि ये पहले से स्पष्ट था कि सर्वश्रेष्ठ बोली लगाने वाले को टाइटल अधिकार नहीं मिल सकेंगे.

बीसीसीआई ने इस बारे में बोली लगाने वालों से इच्छा पत्र स्वीकार करने से पहले ही बता दिया था. इस बारे में सूत्रों के अनुसार बीसीसीआई ड्रीम इलेवन से तीन साल के सशर्त करार के लिए भी बात कर रही है कि अगर वीवो हर साल साल 440 करोड़ रुपये के करार पर वापसी को तैयार नहीं होता है तो आपको 2021 और 2022 में हर साल के लिए 240 करोड़ रुपये देने होंगे.

इस बारे में इस सीनियर अधिकारी ने ये भी कहा कि 2020 के लिए स्पांसरशिप राशि 222 करोड़ सही है.हालांकि तीन साल के लिए सशर्त बोली के लिए वीवो के साथ हमारा करार अभी भी है. हमने इसे खत्म नहीं किया है लेकिन वीवो  हमें अगले साल 440 करोड़ रुपये देने के लिए तैयार हो गयी तो फिर 240 करोड़ रुपये के लिए हम क्यों तैयार हों.

वैसे इन हालत में ये भी तय है कि ड्रीम इलेवन को या तो एक साल के करार (चार महीने और 14 दिन) के लिए रजामंद होना होगा या 2021 और 2022 की सशर्त राशि को बढ़ाने के लिए मानना होगा. यानि  अगले दो सत्र के लिए कंपनी के पास  स्पांसरशिप रहना इस पर निर्भर करता है कि वो बोली कितनी बढ़ाने को तैयार होता है.

About Aditya Srivastava

Check Also

आईपीएल-2022 में देखने को मिलेंगी दस टीम

हाल ही में यूएई में आईपीएल का सफल आयोजन हुआ था. आईपीएल 2020 का फाइनल ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.