Home / International Sports / दिग्गज सुनील गावस्कर सहित इनका भी मैदान से विदाई का अरमान नहीं हुआ था पूरा 

दिग्गज सुनील गावस्कर सहित इनका भी मैदान से विदाई का अरमान नहीं हुआ था पूरा 

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान  महेंद्र सिंह धोनी और सुरेश रैना ने  15 अगस्त को इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया था. वैसे इन दोनों के फैन्स को इनके मैदान से विदाई की उम्मीद थी लेकिन कोरोना काल में ये मुमकिन नहीं हो सका.

हालांकि कई ऐसे दिग्गज क्रिकेटर भी है जिन्होंने अपने  करियर  में कई शानदार पारी खेली लेकिन उन्हें सम्मानजनक विदाई का मौका नहीं मिल सका यानि वो विदाई मैच की उम्मीद करते रहे जो पूरी नहीं हुई और अंततः उन्होंने क्रिकेट को विदा कह दिया. वैसे धोनी और रैना से पहले वीरेंद्र सहवाग, युवराज सिंह, गौतम गंभीर, वीवीएस लक्ष्मण, राहुल द्रविड़ को भी सम्मानजनक विदाई का मौका नहीं मिल सका.

वही दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर भी बिना फेयरवेल मैच खेले विदा हुए थे. धोनी आखरी बार मैदान में पिछले साल दिखे थे जब उन्होंने पिछले साल  इंग्लैंड में हुए आईसीसी विश्व कप के सेमीफाइनल में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ 10 जुलाई 2019 में खेला था.

वो इस मैच में 50 रन बनाकर रनआउट हुए थे उसके बाद से कई बार उनके संन्यास पर अटकलबाजी हुई जिस पर उन्होंने कल विराम लगा दिया. वैसे कल एक और क्रिकेटर यूपी के सुरेश रैना ने भी संन्यास ले लिया था. रैना ने आखिरी बार इंग्लैंड के खिलाफ 17 जुलाई 2018 में मैच खेला था.

इनको भी नहीं मिली सम्मानजनक विदाई

  • सुनील गावस्कर : अपने समय के समकालीन दिग्गज बल्लेबाज  सुनील गावस्कर को भी मैदान से विदाई का मौका नहीं मिला. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में सबसे पहले 10,000 रन बनाये थे. उन्हें वर्ल्ड कप-1987 के बाद टीम से हटा दिया गया था.
  • राहुल द्रविड़ : टीम इंडिया की कप्तानी कर चुके  राहुल द्रविड़ ने अगस्त 2011 में संन्यास का ऐलान किया. हालांकि राहुल द्रविड़ का शानदार इंटरनेशनल करियर रहा था लेकिन वो फेयरवेल मैच नहीं खेल सके.
  • वीवीएस लक्ष्मण : टेस्ट के बेस्ट बल्लेबाजों में शुमार रहे वीवीएस लक्ष्मण को टेस्ट टीम से ड्रॉप कर दिया गया. फिर उन्होंने अगस्त 2012 में संन्यास ले लिया.
  • वीरेंद्र सहवाग : एक समय  वीरेंद्र सहवाग के नाम कई रिकॉर्ड रहे और उन्होंने टीम इंडिया को कई मैच जिताये.  वीरू  ने अंतिम  इंटरनेशनल मैच मार्च 2013 में खेला था. इसके बाद उन्होंने कई बार कोशिश की लेकिन उन्हें वापसी का मौका नहीं मिला. इसके बाद उन्होंने अक्टूबर 2015 में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया.
  • युवराज सिंह :  2017 में आखिरी बार इंटरनेशनल मैच खेलने वाले  युवराज ने 2011 में वर्ल्ड कप विजेता टीम के सदस्य रहे और मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट भी रहे थे. वो 2007 में टी-20 वर्ल्ड कप टीम की विजेता टीम में भी शामिल थे. उन्होंने काफी समय वापसी का इंतजार किया लेकिन जब मौका नहीं मिला तो 2019 में संन्यास ले लिया था.
  • गौतम गंभीर: गौतम गंभीर भी वर्ल्ड कप-2011 की विजेता टीम के सदस्य रहे थे. उनके नाम कई रिकॉर्ड दर्ज है. वो आईपीएल में कोलकाता नाईट राइडर्स के भी कप्तान रहे थे और उनकी कप्तानी में टीम ने 2012 और 2014 में आईपीएल का टाइटल भी जीता था. गंभीर ने 2016 में अंतिम बार इंटरनेशनल मैच खेला था और 2018 में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया.
  • अजय जडेजा :  दिग्गज बल्लेबाज अजय जडेजा ने 2000 में अपना अंतिम इंटरनेशनल मैच खेला था और उनके खिलाफ 2003 में मैच फिक्सिंग के चलते 5 साल का बैन लगा दिया गया था.
  • इरफान पठान :  इरफान पठान का  करियर काफी शानदार रहा था लेकिन वो भी मैदान से विदा नहीं हो सके. इरफान ने अंतिम बार 2012 में इंटरनेशनल मैच खेला था और जनवरी 2020 में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लिया था.
  •  मोहम्मद अजहरुद्दीन : काफी सफल कप्तान रहे मोहम्मद अजहरुद्दीन के ऊपर  मैच फिक्सिंग का कलंक लगा था जिसके बाद उन पर साल 2000 में बैन लगा दिया गया था. हालांकि कोर्ट के आदेश के बाद उन पर से बैन हटा दिया गया था लेकिन इस चक्कर में उनका मैदान से विदाई का अरमान अधुरा रह गया.
  • जहीर खान : टीम इंडिया के काफी अच्छे तेज गेंदबाज रहे जहीर खान का करियर चोटों से काफी प्रभावित रहा. जहीर ने 2014 में अंतिम इंटरनेशनल मैच खेला, फिर अक्टूबर 2015 में संन्यास ले लिया था.

About Aditya Srivastava

Check Also

 जोकोविच, फेडरर, नडाल और तियाफोई को एटीपी पुरस्कार-2020

एटीपी के शीर्ष पुरस्कार पर इस साल नोवाक जोकोविच, रोजर फेडरर, राफेल नडाल और फ्रांसिस ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.