Home / International Sports / इंग्लैंड टूर में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज नहीं कर सकेंगे पसीने का प्रयोग 

इंग्लैंड टूर में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज नहीं कर सकेंगे पसीने का प्रयोग 

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए गेंदबाजो के लार के इस्तेमाल पर  रोक है. हालांकि  क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) ने इंग्लैंड टूर पर अपने गेंदबाजों को सिर, चेहरे और गर्दन के पसीने के प्रयोग पर रोक लगा दी है.   इससे प्लेयर्स के पास 4 सितंबर से साउथम्पटन में इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रही सीरीज में कमर के पास से पसीने का प्रयोग का ऑप्शन है.

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने कोरोना महामारी की बचने की वजह से गेंद पर लार के प्रयोग पर प्रतिबंध लगा दिया था लेकिन प्लेयर शरीर पर कहीं से भी पसीने का प्रयोग करके गेंद पर लगा सकते है. इस बारे में  ऑस्ट्रेलिया टीम के गेंदबाज मिशेल स्टार्क का मानना है कि लिमिटेड ओवरों के फॉर्मैट में इसका अधिक प्रभाव नही होगा.

स्टार्क ने बोला कि सफेद गेंद वाले क्रिकेट में ये महत्वपूर्ण नहीं है. वोसे नई बॉल से खेलना शुरू करने के बाद और उसे सूखा रखने की कोशिश होती है. इसका प्रयोग लाल गेंद वाले मैच में अधिक होता है. वैसे इंग्लैंड के प्लेयर वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज के दौरान अपनी पीठ और माथे से पसीने का प्रयोग करते दिखे थे.

स्टार्क के अनुसार मेरा मानना है कि इंग्लैंड टेस्ट सीरीज के दौरान जोफ्रा आर्चर ने अपनी पीठ से पसीने का प्रयोग किया था. ऑस्ट्रेलिया की टेस्ट टीम में शामिल हुए स्टार्क का मानना है कि अगर चीजें नहीं बदली तो टीम के घरेलू सीजन के दौरान इसी तरह की प्रतिबंध जारी रहेगा.

वैसे सीए ने कोरोना वायरस के संक्रमण को कम करने के लिए सावधानी रखने को बोला है. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की मेडिकल टीम की सलाह पर उसने अपने प्लेयर्स को बोला कि वे मुंह या नाक के पास से पसीने का प्रयोग नही करेंगे.

About Aditya Srivastava

Check Also

 जोकोविच, फेडरर, नडाल और तियाफोई को एटीपी पुरस्कार-2020

एटीपी के शीर्ष पुरस्कार पर इस साल नोवाक जोकोविच, रोजर फेडरर, राफेल नडाल और फ्रांसिस ...